कोरोना से जारी है जंग-अमेरिका ने भारत को दी 59 लाख डॉलर की स्वास्थ्य सहायता

File Photo

घरेलू स्तर पर आलोचना झेलने के बावजूद भारतीय प्रधानमंत्री ने कोरोना से त्रस्त अमेरिका की बढ़-चढ़कर मदद की। इस मदद के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने खुल कर भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद भी कहा था। अब मदद की बारी अमेरिका की थी। हालांकि पाकिस्तान को मिलने वाली अमेरिकी आर्थिक सहायता को लेकर कई तरह के सवाल उठ रहे हैं क्योंकि इस तरह की मदद का सही इस्तेमाल करने के मामले में पाकिस्तान का ट्रेक रिकॉर्ड बहुत अच्छा नहीं रहा है।

अमेरिका ने कोरोना की महामारी से लड़ रहे भारत को 59 लाख डॉलर की स्वास्थ्य सहायता दी है। अमेरिकी विदेश विभाग के मुताबिक इस धनराशि को कोरोना से प्रभावित लोगों की देखभाल, समुदायों को आवश्यक जन स्वास्थ्य संदेश देने में और निगरानी मजबूत करके इस विषाणु को फैलने से रोकने में भारत की मदद करने के लिए जारी किया जा रहा है। अमेरिका के मुताबिक इस सहायता का उपयोग आपातकालीन तैयारियों के साथ-साथ इस वैश्विक महामारी से निपटने के लिए नवीन तंत्र जुटाने में भी किया जा रहा है।

अमेरिका ने एक बयान जारी कर कहा है,

“यह अमेरिका द्वारा पिछले 20 वर्षों में भारत को मुहैया कराई करीब 2.8 अरब डॉलर की कुल सहायता का हिस्सा है जिसमें 1.4 अरब डॉलर से अधिक की स्वास्थ्य सहायता भी शामिल है।’’

दक्षिण एशिया के अन्य देशों की भी मदद कर रहा है अमेरिका

अमेरिका ने कोरोना महामारी से निपटने के लिए दक्षिण एशिया के अन्य देशों की मदद करने का भी ऐलान किया है। भारत को 59 लाख डॉलर की स्वास्थ्य सहायता देने वाला अमेरिका पाकिस्तान को 94 लाख डॉलर, बांग्लादेश को 96 लाख डॉलर, अफगानिस्तान को 1.8 करोड़ डॉलर , भूटान को 5 लाख डॉलर, नेपाल को 18 लाख डॉलर और श्रीलंका को 13 लाख डॉलर की सहायता दे रहा है।

इसे भी पढ़ें :  राष्ट्रपति कोविंद और उप राष्ट्रपति नायडू ने क्रिसमस की पूर्व संध्या पर लोगों को दी बधाई