नरेंद्र मोदी-सवैंधानिक तौर पर भारत के प्रधानमंत्री, पर इससे कहीं आगे है इनका परिचय

संतोष द्विवेदी मनुज , ब्रॉडकास्टर

किसी के लिए आलोचना का विषय, किसी के लिए अभिभावक, किसी के लिए बेटे किसी के लिए प्रेरणा के स्रोत! इतना भर ही नही विरोधी भी जिनकी अद्भुत संवाद कौशल के प्रशंसा करते हो! ऐसे है नरेंद्र मोदी!

जिस कठिन समय से भारत और दुनिया गुजर रही है,जबकि पूरी दुनिया हताशा और नैराष्य-भाव से गुजर रही है, पूरी दुनिया मे कोरोना ने हाहाकार मचाया हुआ है!

विश्व भर में समूची मानवता के लिए अस्तित्व का संकट मंडरा रहा है! ऐसे में नरेंद्र मोदी जी जिस तरह से समय-समय पर भारतीयों और बाकी विश्व के लोगों में प्राण फूंकने का काम कर पा रहे है, वो अद्वितीय है!

आज 5 अप्रैल को रात 9 बजे के उनके आह्वान पर जिस तरह से देश ही नही बल्कि दुनिया के कई देश इस मुहिम में शामिल हुए, वो उनके व्यक्तित्व और भारत के बढ़ते कद का प्रमाण है!

कहते भी है कि संकट के समय व्यक्ति के असली चरित्र निकलकर सामने आता है, कठिनाई के समय ही साहस कसौटी पर कसा जाता है!

आज लड़ाई आमने सामने की नही बल्कि एक ऐसे दुश्मन के साथ है, जो न नजर आता है न ही पकड़ा जा सकता है! ऐसे दुश्मन के साथ जिस लड़ाई को हम और सारी दुनिया लड़ रही है उसमें बचाव ही एकमात्र उपाय है!

ऐसे समय मे नरेंद्र मोदी जी के आत्म-विश्वास बढ़ाने वाले इस आह्वान पर समूचा राष्ट्र जिस एकजुटता के साथ आगे आया वो ऐतिहासिक है! हम और हमारी पीढ़ी इतिहास बनते देख रही है!

भविष्य के गर्भ में क्या है किसे पता?

इसे भी पढ़ें :  कश्मीर पर देश को संबोधित करेंगे पीएम मोदी - पाकिस्तान ले रहा है अजीबो-गरीब फैसलें

….पर हाँ इतना यकीन है भारत सुरक्षित हाथों में है, हम।सबको सरकार के दिशानिर्देशों का पालन करना है, कोरोना के इस राक्षस से हम जल्दी ही निजात पा सकेंगे!

21 वीं सदी का भारत अपने भविष्य की इबारत लिख रहा है, नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में!

जय हो भारत भूमि, जय हो!

जय हो!!

शुभं करोति कल्याणं आरोग्यं धनसम्पदः।

शत्रु-बुद्धि-विनाशाय दीपज्योतिर्नमोस्तुते।।

अर्थ : शुभ एवं कल्याणकारी, स्वास्थ्य एवं धनसंपदा प्रदान करने वाली तथा शत्रुबुद्धि का नाश करने वाली, हे दीपज्योति, मैं तुम्हें नमस्कार करता हूँ।