योगा डे स्पेशल- सर्वश्रेष्ठ उपहार है मानव जीवन

 

कमलेश मुद्गल, रेडियो एंकर

मानव जीवन सर्वश्रेष्ठ उपहार है इस उपहार को स्वस्थ रखना हमारा परम कर्तव्य है अपने शरीर को बीमारी से बचाना और सदैव प्रसन्न चित्त रहना यही एकमात्र लक्ष्य है हम मानवों का । हर व्यक्ति का जतन रहता है कि वह स्वस्थ रहे ऊर्जावान रहे । योग एक आध्यात्मिक प्रक्रिया है । जिसमें शरीर मन और आत्मा इन तीनों को एक साथ लाने का काम होता है । आज के युग में समस्त संसार योग शब्द से परिचित है । भारत से बौद्ध धर्म के साथ योग चीन , जापान, तिब्बत, दक्षिण पूर्व एशिया और श्रीलंका फैल गया । अक्सर योग के बारे में केवल यही धारणा होती है कि इससे बीमारी से बच सकते हैं, पतले हो सकते हैं, कुछ विशेष बीमारियों से दवा के साथ साथ इसे अपनाकर हम स्वस्थ जीवन शैली अपना सकते हैं । लेकिन योग यहीं तक सीमित नहीं है यह तो विस्तारक रूप में काम करता है मानव जीवन के लिए हमें अपने जीवन को दीर्घ जीवन में बदलने का अवसर देता है योग । बीमारी से बचाव के साथ-साथ योग संपूर्ण जीवन कैसे जिया जाए खुशी खुशी कैसे अपने जीवन को हम जी सकते हैं इस पर भी योग काम करता है । जीवन जीने की कला सिखाता है योग । बीमारी में जो खर्चा दवाइयों पर आता है उससे बचाता है योग । जोधन हमारा बीमारियों पर खर्च होता है अब उसको हम बचा सकते हैं।

कुछ वर्षों से योग की आवश्यकता को विश्व भर में महसूस किया गया और इसे सभी ने अपनाया भी । अब पूरा संसार योग की शक्ति को जानता है पहचानता है । अब साधारण व्यक्ति हो या असाधारण व्यक्तित्व के मालिक सभी योग को अपना रहे हैं । सब योग पर विश्वास करते हैं । जो आज की आवश्यकता है । कल के सुनहरे भविष्य का राज भी योग में छिपा है । रोजमर्रा की जिंदगी में हम लोग योग को अपना रहे हैं भौतिक मानसिक भावनात्मक आध्यात्मिक भावनाओं से हम जुड़े हुए हैं और जब इन भावनाओं में असंतुलन होता है तब हम किसी ना किसी रूप में बीमार पड़ जाते हैं कई बार हम शारीरिक रूप से बीमार होते हैं तो कई बार हाल मानसिक बीमारियों की चपेट में आ जाते हैं । हमारी आंख जब खुलती है तब बीमारी गंभीर रोग धारण कर लेती है ऐसे में योग का सहारा लेना सदैव उचित है । योग का अर्थ है बांधना हमारी भावनाओं को संतुलित कर तालमेल बिठाकर संतुलित करने का काम योग द्वारा ही संभव हो सकता है योग पर हम विश्वास कर सकते हैं । योग करने के बाद जो परिणाम हमें प्राप्त होते हैं उससे हम अपना जीवन स्वस्थ बना सकते हैं ।

इसे भी पढ़ें :  कोरोना वायरस - अगले 3 दिनों तक दिल्ली के सभी बाजार रहेंगे बंद

योग हमारी बुरी आदतों से हमें बचाता है । बुरी आदतों के कारण जो प्रभाव शरीर पर होते हैं उस प्रभाव को बदलने की क्षमता केवल योग में निहित है । सारे दिन कुर्सी पर बैठ कर काम करना हो या मोबाइल पर घंटों बात करना , किसी भी बात को बार बार सोचना , हर बार अपने बारे में अच्छा ना सोचना , तनावग्रस्त रहना , व्यक्ति या स्थिति के बारे में नकारात्मक सोच लेना, अपने पर विश्वास ना होना, जाने ऐसी कितनी ही आदतें हैं जो योग के द्वारा ठीक हो रही है । अपनी जीवनी शक्ति को भी योग के द्वारा बड़ा सकते हैं । जब भी हम योग को अपनाएं योग में विश्वास करें अपने आप में विश्वास रखें सकारात्मक भाव के साथ योग को अपनाएं । धीरे-धीरे आप देखेंगे योग आपको सकारात्मक और भावनात्मक तरीके से बलशाली बना रहा है । आपको योग के नतीजे समय के साथ साथ समझ में आने लगेंगे । 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया जाता है । योग से हमारे शरीर को बहुत फायदे मिलते हैं । योग से हमारा दिल और हमारे फेफड़े मजबूत होते हैं । हम सांस लेने की सही प्रक्रिया सीख जाते हैं से हमें सांस लेने की क्षमता बढ़ जाती है । शरीर में रक्त संचार को बढ़ाने के लिए योग महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है । पाचन शक्ति में भी योग महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है । डायबिटीज को नियंत्रित करने में योग का सहारा लिया जा रहा है । योग अपनाने के बाद हमारे शरीर में कुछ बीमारियां धीरे धीरे ठीक होने लगती हैं । हारमोंस को भी संतुलित करने का काम योग द्वारा किया जाता है । मन में लगातार जब नकारात्मक भाव आते हैं तब हम तनावग्रस्त हो जाते हैं लेकिन जब योग को अपनाते हैं तब हमें पता चलता है कि अब हम तनाव से धीरे-धीरे दूर हो रहे हैं । योग को अपनाकर हम अपनी सोच को सकारात्मक करने की दिशा में कदम बढ़ा लेते हैं ।

इसे भी पढ़ें :  Valentine's Day Special-रतन टाटा के प्यार की कहानी