भारत कोरोना महामारी से लड़ने के लिए अपने मित्र देशों की हरसंभव मदद करने को तैयार है- नरेंद्र मोदी

कोरोना महामारी के संकट से पूरी दुनिया जूझ रही है। संकट के इस माहौल में भारत एक तरफ तो आंतरिक स्तर पर कोरोना के कहर को खत्म करने की लड़ाई लड़ रहा है तो वहीं दूसरी तरफ अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भी एक बड़ी भूमिका निभा रहा है।

दक्षिण एशिया के संगठन सार्क देशों के राष्ट्राध्यक्ष के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए भारत ने कोविड -19 के खिलाफ लड़ने के लिए सार्क स्पेशल फंड को स्थापित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई और आर्थिक योगदान भी दिया। अमेरिका , ब्राजील और इजरायल जैसी महाशक्तियों को भी कोरोना से लड़ने के लिए भारत ने मदद मुहैया कराई।

कोरोना के खिलाफ जारी अंतर्राष्ट्रीय जंग में भारत की भूमिका को स्पष्ट करते हुए एक बार फिर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि मित्र देशों की सहायता के लिए जो कुछ भी संभव होगा, भारत मदद जरूर करेगा।

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के ट्वीट का जवाब देते हुए यह बात कही है। बेंजामिन नेतन्याहू ने इजरायल को ‘क्लोरोक्वीन’ की आपूर्ति करने संबंधी भारत के फैसले के लिए अपना आभार व्यक्त किया है।

 

प्रधानमंत्री मोदी ने अपने ट्वीट में कहा, ‘हमें आपस में मिलकर इस महामारी से लड़ना है। भारत अपने मित्रों की मदद करने के लिए जो भी संभव है वह करने को तैयार है। मैं इजरायल के लोगों के उत्‍तम स्वास्थ्य और खुशहाली की कामना करता हूं।’

 

इसे भी पढ़ें :  वोडाफोन से परेशान परेश रावल पर जिओ ने फेंका जाल